हर्बल काढ़ा बनाने की विधि और फायदे : How to Make Kadha

herbal kadha
kadha aise banaye

दोस्तों एमएलडी को रोग प्रतिरोधक क्षमता भी कहा जाता है. आजकल कोरोना के चलते ज्यादा इम्युनिटी  ठीक होना बहुत ही आवश्यक है अगर आपकी इम्युनिटी वीक होगी तो आपको सर्दी खांसी जुकाम या फिर कोई भी वायरस बहुत जल्दी पकड़ लेगा और आप जल्दी बीमार हो जाएंगे। आपकी इम्यूनिटी जितनी अच्छी होगी, उतने ही आप रोगों से दूर रहेंगे। कई लोगों की इम्यूनिटी इतनी कमजोर होती है, कि थोड़ा सा मौसम बदलने पर ही उन्हें सर्दी, खांसी, बुखार और जुकाम जैसी समस्याएं हो जाती हैं।

जिनका इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर होता है वो सबसे पहले इन रोगों का शिकार होते हैं। ऐसे में अगर आप जितना ज्यादा प्राकृतिक चीजों का इस्तेमाल करेंगे, आपकी इम्यूनिटी अच्छी होगी। अगर आप अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना चाहते हैं, तो हर्बल काढ़े का सेवन आपकी इसमें मदद कर सकता है। ये हर्बल काढ़ा कई तरह के आयुर्वेदिक हर्ब्स से बनता है और इसे आप घर पर ही आसानी से बना सकते हैं। आइए आपको बताते हैं।

हर्बल काढ़ा बनाने के लिए सामग्री

छोटी इलायची 2

काली मिर्च 2-3 दाने

2 छोटे टुकड़े दालचीनी

8-10 तुलसी की पत्तियां

एक छोटा टुकड़ा अदरक

एक मीडियम चम्मच शहद

काढ़ा बनाने की विधि

काढ़ा बनाने के लिए सबसे पहले पानी को गर्म करने रखें. जब पानी उबलने लगे तब उसमें काली मिर्च, पीसी हुई लौंग, इलायची, अदरक, दालचनी, मुनक्का और स्वादानुसार शहद  ड़ाल दें. कुछ देर बाद इसमें तुलसी की पत्तियां इसमें डाल दें.. इसे इतना उबालें जब तक पानी सूखकर आधा न रह जाए. जब पानी आधा रह जाए तो गैस बंद कर दीजिए. पानी को छान लें. आपका काढ़ा बनकर तैयार है. कुछ दिनों तक रोजाना इसका सेवन करें. आपकी सर्दी-खांसी दूर हो जाएगी.

क्या है इस काढ़े का खास‍ियत

1. तुलसी:  काढ़े में तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल करने की सलाह दी गई है. तुलसी के पत्ते रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्युनिटी बढ़ाने में मददगार हो सकते हैं. तुलसी एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल, एंटी-इंफ्लेमेट्री गुणों से भरपूर होती है. जो इम्‍यूनिटी बढ़ाने में मददगार हैं. 

2. दालचीनी: दालचीनी में पॉलिफेनॉल्स और प्लांट एंटीऑक्सिडेंट होते हैं, जो इम्यूनिटी दुरुस्त करने में मददगार साब‍त हो सकते हैं.

3 काली मिर्च: यह स्वाद बढ़ाने वाला मसाला है. गैस जैसी समस्याओं से भी काली मिर्च राहत दिलाती है. इसके साथ ही साथ इसमें कैल्शियम, आयरन, कैरोटिन, फास्फोरस के अलावा और भी कई पोषक तत्व होते हैं जो इम्युनिटी को मजबूत करते हैं.

4. सूखी अदरक: इम्युनिटी यानी बीमारी, वायरस, बैक्टीरिया से लड़ने की शरीर की क्षमता यानी ताकत को बढ़ाने के गुण सूखी अदरक में भी भरपूर होते हैं.

5. मुनक्का: रोगों से लड़ने के ल‍िए शरीर को ताकतवर बनाने के लिए मुनक्का का इस्तेमाल सदियों से हो रहा है. इसमें आयरन, विटामिन्स और दूसरे मिनरल्स भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं, जो इम्यूनिटी को बूस्ट करने में मददगार हैं.

6 नींबू: आयुष मंत्रालय ने नींबू का जिक्र भी स्वाद के लिए किया है. इसके साथ ही साथ नींबू इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में भी मददगर है. यह व‍िटामिन सी का अच्छा स्रोत है, जो इम्यूनिटी बूस्टर माना जाता है.

7 शहद : शहद न केवल खाने में स्‍वादिष्‍ट होता है, बल्कि सेहत के लिए बहुत फायदेमंद भी होता है। शहद में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, विटामिन ए, बी, सी, आयरन, मैगनीशियम, कैल्शियम, फॉस्फोरस, पोटेशियम, सोडियम आदि गुणकारी तत्व होते हैं। इसके साथ साथ शहद में एंटी वायरल गुण भी पाए जाते है। 

ये भी पढ़े :
गोंद कतीरा पीने के फायदे
बाबा रामदेव कोरोना मेडिसिन करोनिल

Share

Be the first to comment on "हर्बल काढ़ा बनाने की विधि और फायदे : How to Make Kadha"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*