दिव्या मुक्ता वटी के फायदे और नुकसान

divya mukta vati

मुक्तावटी (Muktavati) पतंजलि की प्रसिद्ध दवाओं में से एक मानी जाती है। इस लेख में हम पतंजलि मुक्ता वटी के बारे में बात करेंगे। दोस्तों आपको पता होगा कि आजकल उच्च रक्तचाप यानी के हाई बीपी की बहुत ज्यादा समस्या हो गई है। हाई बीपी की एक बार समस्या हो जाए तो एलोपैथी की दवा सारी उम्र खानी पड़ती है, तो उससे निजात पाने के लिए आप पतंजलि दिव्य मुक्ता वटी इस्तेमाल कर सकते हैं जो कि प्राकृतिक रूप से बनाई गई है और यह मानसिक विकारों से लड़ने में भी मदद करती है। 

दिव्य मुक्ता वटी क्या है : What is Divya Mukta Vati

दिव्य मुक्ता वटी (Mukta Vati) पतंजलि द्वारा बनाया गया एक उत्पाद है जो कि उच्च रक्तचाप को कंट्रोल करता है। इसके साथ-साथ यह कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में फायदा करता है। यह हाइपरटेंशन को भी नियंत्रित करता है 

पतंजलि मुक्ता वटी के घटक : Divya Mukta Vati Composition

पतंजलि दिव्य मुक्ता वटी (Divya Mukta Vati) की एक टेबलेट 300 मिलीग्राम की है और इसमें निम्नलिखित घटक डाले गए हैं,जैसे के। ब्रह्मी, गाजवा,ज्योतिषमति,शंखपुष्पी, उग्रगंदा इत्यादि 

Divya Mukta Vati खरीदे 

ब्रह्मी: यह मानसिक समस्याओं से लड़ने में मदद करती है और इसके साथ-साथ आपके लीवर को भी साफ करने में सहायता करती है। 

शंखपुष्पी : शंखपुष्पी तंत्रिका तंत्र की समस्याओं को दूर करती है। 

पुष्प मूल : यह रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने का काम करती है। 

उग्र गंदा: यह आपकी स्मरण शक्ति ठीक करती है और दिमाग को बेहतर तरीके से काम करने में सहायता करती है। 

दिव्य मुक्ता वटी के फायदे। Divya Mukta Vati Benefits in Hindi

  • जैसा कि हमने शुरू में बताया दिव्य मुक्ता वटी आपके रक्तचाप को नियंत्रित करने का काम करती है। इसके साथ ही यह इसके और भी फायदे हैं जैसे के। 
  • यह मानसिक विकारों से लड़ने में मदद करती है और उसका इलाज करने में फायदा देती है। 
  • यदि किसी रोगी को अनिद्रा की समस्या है तो अनिद्रा की समस्या को दूर करती है। 
  • कोलेस्ट्रोल की वजह से हृदय आघात होने से बचाती है और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करती है। 
  • मानसिक तनाव अवसाद और चिड़चिड़ापन जैसी समस्याओं को दूर करती है। 
Divya Mukta Vati खरीदे 

दिव्य मुक्ता वटी के साइड इफेक्ट: Divya Mukta Vati Side Effects

वैसे तो पतंजलि दिव्य मुक्ता वटी पूर्ण रूप से आयुर्वेदिक औषधि है। फिर भी जरूरत से ज्यादा लेने से या फिर अगर आपको किसी चीज से एलर्जी है तो आपको साइड इफेक्ट झेलने पड़ सकते हैं जैसे के। 

  • हल्का-हल्का सिर दर्द
  • नाक बंद 
  • मुंह में सूखापन 
  • सुस्ती 
  • सांस लेने में तकलीफ इत्यादि। 

दिव्य मुक्ता वटी कैसे इस्तेमाल करें? Divya Mukta Vati Dosage

दिव्य मुक्ता वटी की खुराक व्यक्ति की उम्र और अवस्था की जरूरत पर निर्भर करती है इसलिए इसे डॉक्टर की सहायता से ही इस्तेमाल करना चाहिए। आमतौर पर इसकी एक से दो टेबलेट सुबह खाली पेट लेने की सलाह दी जाती है। इसे लेने से 1 घंटे बाद ही भोजन करना चाहिए। 


Share

Be the first to comment on "दिव्या मुक्ता वटी के फायदे और नुकसान"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*