Chromium क्या है , फायदे और उपयोग

kid eating broccoli

क्रोमियम (Chromium) एक खनिज पदार्थ है। इसे इसेंशियल ट्रेस एलिमेंट (Essential Trace Element) भी कहा जाता है। यह हमारे शरीर के लिए काफी ज्यादा जरूरी बन जाता है। चाहे इसकी मात्रा बहुत कम है फिर भी शरीर को सुचारू रूप से चलाने के लिए इसकी बहुत ज्यादा विशेषता है। 

आजकल क्रोमियम पिकॉलिनेट(Chromium Picolinate) वजन कम करने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। यह आपके शरीर के मेटाबॉलिज्म को ठीक रखने में मदद करता है और उसे मजबूत भी करता है। ग्लूकोस लेवल को नियंत्रित करने के लिए भी क्रोमियम अहम भूमिका निभाता है। 

क्रोमियम (Chromium) मुख्य रूप से 2 तरह का होता है ट्रिवेलेंट क्रोमियम (Trivalent Chromium)  और दूसरा हेस्कावेलेंट क्रोमियम (Hescavelant Chromium)

Chromium Picolinate खरीदे 

ट्रिवेलेंट क्रोमियम मनुष्य के लिए सुरक्षित है और सप्लीमेंट के रूप में भी ले सकते हैं। दूसरा  हेस्कावेलेंट क्रोमियम त्वचा और फेफड़ों में कैंसर का कारण बन सकता है। 

क्रोमियम के फायदे : Chromium Benefits in Hindi

1. कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखता है। Controls Cholesterol  

क्रोमियम (Chromium ) एक ऐसा तत्व है जो कि शरीर से नुकसानदायक फैट को कम करता है और मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है। इसीलिए कुछ लोग इसे वजन और फैट कम करने के लिए भी इस्तेमाल करते हैं। यह कोलेस्टेरोल को कम करता है और सही कोलेस्ट्रॉल एच डी एल (HDL) की मात्रा को बढ़ाता है  

2. ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखता है। Controls Blood Sugar Level 

जैसा कि हमने शुरू में भी बताया कि क्रोमियम आपके शरीर के ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखने में मदद करता है। यह इन्सुलिन रेजिस्टेंस को कम कर के आपके शरीर के लिए कितना ग्लूकोस चाहिए, उसे निर्धारित करता है। कुल मिलाकर यह डायबिटीज को कंट्रोल करता है। 

3. वजन कम करने में फायदेमंद। Helps in Weight Loss

दोस्तों अगर आपको वजन कम करना चाहते हैं और आपको पता है कि आपका वजन कोलेस्ट्रॉल की वजह से बढा है तो आप क्रोमियम ले सकते हैं। सिर्फ क्रोमियम पिकॉलिनेट का सप्लीमेंट लेने से ही आपका वजन कंट्रोल में आना शुरू हो जाएगा इसे आप सप्लीमेंट के रूप में भी ले सकते हैं या फिर अपने भोजन में भी क्रोमियम की मात्रा बढ़ा सकते हैं।

young fitness girls in gym

यह बॉडी मास को बढ़ाता है और ट्रांस फैट को कम करता है जो आपके शरीर में जमा हो जाती है। इस तरह से आप वजन को कम कर सकते हैं। 

4. तनाव को कम करता है। Stress Remover

क्रोमियम में एंटीडिप्रेसेंट गुण भी पाए जाते हैं जो कि डिप्रेशन के लक्षणों को कम करता है और आपके मूड को खुशनुमा बना कर रखा है। इसीलिए इसे तनाव को कम करने के लिए फायदेमंद माना जाता है। 

5. भूख को शांत रखने में सहायक : Control Hunger

क्रोमियम एक न्यूट्रलाइजर की तरह काम करता है। यह आपके ब्लड शुगर लेवल को डाइल्यूट करता है और कार्बोहाइड्रेट की भूख को शांत करता है। इसलिए यदि आप पार्टी या शादी में जाएं तो उससे आकर क्रोमियम पिकॉलिनेट की एक गोली खा सकते हैं। यह आपकी भूख को शांत कर के और कार्बोहाइड्रेट को शुगर में कन्वर्ट नहीं होने देगा। 

क्रोमियम के मुख्य स्त्रोत। Source of Chromium 

अगर आप क्रोमियम पिकॉलिनेट या फिर क्रोमियम की मात्रा बढ़ाना चाहते हैं तो यह मुख्य तौर से ब्रोकली शिमला मिर्च, सिट्रस फ्रूट जैसे कि संतरे, अनानास, फलीदार पौधे में ज्यादा पाया जाता है। साबुत अनाज गेहूं और रेड मीट में भी क्रोमियम अच्छी मात्रा में मिल जाता है। अगर आप क्रोमियम की मात्रा इन से नहीं ले पा रहे तो आप क्रोमियम पिकॉलिनेट का सप्लीमेंट भी ले सकते हैं। 

Chromium Picolinate खरीदे 

क्रोमियम किन रूपों में उपलब्ध है? 

क्रोमियम आपको टैबलेट, लिक्विड या पाउडर के रूप में मिल जाएगा। दिन भर में आपने 200 UG  खुराक लेने की सलाह दी जाती है।

क्रोमियम को कितनी मात्रा में लेना चाहिए – Chromium ko kitni matra me lena chahiye

अलग-अलग आयु वर्ग के लोगों को अलग-अलग मात्रा में क्रोमियम की आवश्यकता होती है, जिसको नीचे आप विस्तार से जान सकते हैं।

आयु  रोजाना आवश्यक मात्रा

  • शिशु 0 से 6 महीने 0.0002 मिलीग्राम
  • 7 से 12 महीने 0.0055 मिलीग्राम
  • 1 से 3 साल 0.011 मिलीग्राम
  • 4 से 8 साल 0.015 मिलीग्राम
  • 9 से 13 साल (लड़के) 0.025 मिलीग्राम
  • 9 से 13 साल (लड़कियां) 0.021 मिलीग्राम
  • 14 से 18 साल (लड़के) 0.035 मिलीग्राम
  • 14 से 18 साल (लड़कियां) 0.024 मिलीग्राम
  • 19 से 50 साल (पुरुष) 0.035 मिलीग्राम
  • 19 से 50 साल (महिला) 0.025 मिलीग्राम
  • गर्भवती महिलाएं 0.030 मिलीग्राम
  • स्तनपान कराने वाली महिलाएं 0.035 मिलीग्राम

यह भी पढ़े


Share

Be the first to comment on "Chromium क्या है , फायदे और उपयोग"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*