Dashmool ke Fayde aur Upyog : दशमूल काढ़ा

patanjali dashmool kwath

दोस्तों, दशमूल एक तरह का क्वाथ या काढ़ा होता है .इसे दस तरह की ओषधिए या जड़ों से बनाया जाता है.इसमें बेल, पाढ़ल, गंभार, सोना पाढ़ा, अरनी, सरिवन, पिढ़वन, बड़ी कटेरी, छोटी कटेरी और गोखरू पाया जाता है। इसमें इन पेड़ों की जड़ की छाल या जड़ का इस्तेमाल किया जाता है। यह सूजन और दर्द में आराम देने की बेहतरीन दवा है। शरीर में होने वाले वात और कफ  से निजात दिलाता है.

प्रसूति के बात महिलाओं में होने वाले चिड़चिड़ापन ,खून की कमी, बुखार, जलन, गर्मी, कमजोरी भूख ना लगना , शरीर में सूजन, दर्द आदि के लिए इसके काढ़े का इस्तेमाल किया जाता है. 

दशमूल के फायदे ( BENEFITS OF DASHMOOL)

दशमूल शरीर से दर्द और सूजन को कम करता है.

गर्भवती स्त्री के बुखार को कम करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

दशमूल काढ़ा खरीदने के लिए दबाये 

अंडकोष की सूजन को कम करने के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है. 14 से 28 एम एल दशमूल का काढ़ा 14 एमएम अरंडी के तेल में लेने से अंडकोष की सूजन को कम करने फायदा देता है.

दांतों को मजबूत करने के लिए की यह काफी फायदेमंद है. दशमूल के काले को सरसों के तेल के साथ पकाकर थोड़ा गाढ़ा कर लें इसके बाद इसे अपने दांतों पर मलने से दांत मजबूत होते हैं.

अगर आपको डिप्रेशन अस्थमा इत्यादि की समस्या है तो उससे भी निजात दिलाने में 10 मूल काफी फायदेमंद है.

dashmool ke fayde

पेट दर्द की समस्या से निजात पाने के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है.दशमूल (बेल, श्योनाक, खंभारी, पाढ़ल, अरलू, सरियवन, पिठवन, बड़ी कटेरी, छोटी कटेरी और गिलोय) को पीसकर काढ़ा बनाकर गाय के पेशाब में मिलाकर पीने से पित्तोदर यानी पित्त के कारण होने वाले पेट के दर्द में राहत मिलती है।

यदि आपको गठिया रोग है तो दशमूल का इस्तेमाल करना फायदेमंद साबित हो सकता है घुटने के दर्द में एरण्ड के तेल को दशमूल काढ़े के साथ सेवन करना चाहिए। इससे रोगी को तुरन्त फायदा मिलता है।

कई शोधो में पाया गया है की दशमूल का इस्तेमाल करने से पार्किंसन रोग से भी निजात मिलती है.

दशमूल महिलाओं के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है. मासिक धर्म या फिर गर्भावस्था प्राप्त करने को लेकर होने वाले रोगों से भी यह निजात दिलाता है.

दशमूल रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में बहुत अधिक फायदेमंद साबित होता है.

दशमूल काढ़ा बनाने की विधि

 दशमूल काढ़ा या क्वाथ  का मिश्रण बाजार से खरीद ले. बाजार में आपको पतंजलि या फिर किसी और ब्रांड का आसानी से मिल  जाएगा

दशमूल काढ़ा खरीदने के लिए दबाये 

10 से 12 ग्राम मिश्रण को 200ml पानी में उबाल लें.

जब पानी 60 से 70 एमएम रह जाए तो इसे कपड़े से छान लें.

 क्वाथ को रख ले  और सूरत के अनुसार पूरे दिन में थोड़ा  थोड़ा पिए

या फिर अपने डॉक्टर की सलाह ले

यह भी पढ़े

Share

Be the first to comment on "Dashmool ke Fayde aur Upyog : दशमूल काढ़ा"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*