Whey Protein Isolate Kya Hai : Fayde, Nuksan Aur Upyog

whey protein

दोस्तों जब सप्लीमेंट्स की बात की आती है तो व्हेय प्रोटीन का नाम सबसे ऊपर आता है. इसका कारण है इसकी गुणवत्ता और प्रोटीन की डाइजेस्टिबिलिटी. दोस्तों आजकल जो लोग भी जिम जा रहे हैं उन सभी को पता है कि अगर मसल बढ़ाना है तो प्रोटीन कितना जरूरी है. मसल बढ़ाने के लिए  एक किलोग्राम बॉडी वेट पर हमें कम से कम 1 ग्राम प्रोटीन की आवश्यकता पड़ती है. और जो लोग ज्यादा मसल बढ़ाना चाहते हैं वह लोग 2 ग्राम तक भी लेते हैं. 

व्हे प्रोटीन मार्केट में कई तरह के आते हैं, कई ब्रांड्स के भी आते हैं तो इनके हिसाब से कौन सा व्हे प्रोटीन आपको लेना चाहिए वह इस लेख में आपको पता चलेगा. सबसे ज्यादा कन्फ्यूजन व्हे प्रोटीन आइसोलेट को लेकर है. कि आखिर व्हे प्रोटीन आइसोलेट क्या चीज है किसे लेना चाहिए ,क्यों लेना चाहिए और कब लेना चाहिए.

 व्हे प्रोटीन क्या होता है

 दोस्तों व्हे प्रोटीन दूध से बनाया जाता है. इसमें अमीनो एसिड उच्च मात्रा में पाए जाते हैं ,इसमें प्रोटीन की मात्रा बहुत अधिक रहती है. व्हे प्रोटीन को बनाने के लिए बहुत तरह के प्रोसेस किए जाते हैं. अगर साधारण भाषा में कहें तो पनीर के बाद जो पानी बच जाता है उसे सुखा कर या फिर स्प्रे ड्राई करके वे प्रोटीन बनता है.

 इस प्रोसेस के लिए  बहुत बड़े-बड़े प्लांट उपलब्ध है. 

बहुत सारे अध्ययनो ने दिखाया है कि व्हे प्रोटीन की थोड़ी मात्रा भी आपके शरीर के लिए फायदेमंद होती है। व्यायाम के तुरंत बाद केवल 10 ग्राम व्हे प्रोटीन का सेवन मसल्स पुनर्निर्माण को उत्प्रेरित कर सकता है।

व्हे प्रोटीन कितने प्रकार का होता है.

दोस्तों व्हे प्रोटीन तीन प्रकार का होता है.

व्हे प्रोटीन कंसंट्रेट (Whey Protein Concentrate)

 व्हे प्रोटीन बनाने की प्रोसेस में जो सबसे पहला प्रोटीन बनता है उसे व्हे प्रोटीन कंसंट्रेट कहा जाता है. इसमें प्रोटीन की मात्रा थोड़ी कम रहती है और थोड़े कार्बस भी रहते हैं. इसे डाइजेस्ट करने में भी थोड़ा टाइम लग जाता है. अगर आप रेगुलर बेसिस पर प्रोटीन खाना चाहते हैं तो आप व्हेय प्रोटीन कंसंट्रेट भी ले सकते हैं. व्हे प्रोटीन कंसंट्रेट सबसे सस्ता प्रोटीन माना जाता है.

व्हे प्रोटीन आइसोलेट (Whey Protein Isolate)

व्हे प्रोटीन आइसोलेट की गुणवत्ता ज्यादा होती है. इसमें प्रोटीन की मात्रा भी ज्यादा पाई जाती है. इसे ज्यादातर प्रोफेशनल बॉडी बिल्डर या फिर फैट लॉस के लिए इस्तेमाल किया जाता है. इसमें अमीनो एसिड की मात्रा काफी अधिक पाई जाती है. कुछ लोग इसे जीरो फैट प्रोटीन भी कहते हैं.

fat loss

 अगर आपका गोल कोई कंपटीशन करना है या फिर फैट लॉस करना है तो आप व्हे प्रोटीन आइसोलेट लेना  शुरू कर सकते हैं. यह थोड़ा महंगा होता है परंतु क्वालिटी के मामले में बहुत बढ़िया रहता है.

 व्हे प्रोटीन हाइड्रोलाइज (Whey Protein Hydrolysate) 

व्हे प्रोटीन हाइड्रोलाइज सबसे उच्च कोटि का प्रोटीन माना जाता है. इसमें और व्हे प्रोटीन आइसोलेट में 19-20 का ही अंतर  होता है. आजकल कुछ कंपनियां व्हे प्रोटीन आइसोलेट को ही हाइड्रोलाइसिस के नाम से बेचती है. तो इसलिए अगर आप अच्छा प्रोटीन लेना चाहते हैं तो आज तो लेट ही खरीदें उसी में आपको अच्छा प्रोटीन मिल जाएगा.

 व्हे प्रोटीन क्यों है खास

बॉडीबिल्डर्स और एथलीट्स के लिए स्टेपल सप्लिमेंट होने के अलावा व्हे प्रोटीन इम्युनिटी बिल्डिंग पर अपने सकारात्मक प्रभाव और अपने एंटी-एजिंग गुणो की वजह से काफी तारीफ पा रहा है।

बहुत सारे अध्ययनो में पाया गया है कि व्हे प्रोटीन कैंसर रेट को कम करने, प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने, एचआईवी से लड़ने, कॉर्टीसॉल को कम करने, स्ट्रेस घटाने, लाईव फंकशन को विकसित करने, दिमाग में सिरॉटॉनिन के स्तर को बढ़ाने, रक्तचाप को कम करने और बहुत सारे औषधीय गुणों और खेल से संबंधित स्वाथ्य्य लाभ देने में सामर्थ्य है।

यहाँ से खरीदे

व्हेय प्रोटीन
व्हेय प्रोटीन आइसोलेट

 व्हे प्रोटीन कब लेना चाहिए.

 अगर आप जिम जा रहे हैं और बॉडी बिल्डिंग  कर रहे हैं तो वे प्रोटीन को जिम के तुरंत बाद ले. तुरंत बात नहीं ले सकते तो 30 मिनट के अंदर अंदर ले लेना चाहिए. तभी व्हे प्रोटीन अच्छा असर दिखाता है. क्योंकि तब हमारा मेटाबॉलिज्म काफी तेज होता है. जो भी चीज हमारे पेट में जाएगी वह अच्छे से डे गेस्ट होगी और अच्छा असर करेगी.

 अच्छे रिजल्ट के लिए  दिन में दो बार वे प्रोटीन लेना चाहिए. अगर आप डाइट में अंडे या फिर कोई और प्रोटीन आहार ले रहे हैं तब आप व्हे प्रोटीन कि एक सर्विंग भी चला सकते हैं.

 व्हे प्रोटीन कैसे लेना चाहिए How to use Whey Protein 

1  अगर आपका  अगर आप वेट लॉस करना चाहते हैं या फिर फैसला करना चाहते हैं तो इसे पानी के साथ ही ले. 

2.  अगर आप अपना वेट बढ़ाना चाहते हैं और मर्सरसाइड भी बढ़ाना चाहते हैं तो आप  दूध, शेक या अपनी किसी भी पसंदीदा पेय में डालकर यूज कर सकते हैं।

2 अगर आपको गाढापन पसंद है तो आप 120 एमएल से 200 एमएल तक पानी या दूध या जो भी आप यूज करते हैं उसमें एक स्कूप डालें और करीब 30 सेकेंड तक शेक करें।

3 अगर आपको पतलापन पसंद है तो 250 से 300 एमएल पानी या दूध या जो भी आप यूज करते हैं उसमें एक स्कूप डालें और करीब 30 सेकेंड तक शेक करें।

4 इस व्हे प्रोटीन का यूज बस इतना ही नहीं है। इसे आप ओटमील या योगहर्ट में भी डाल सकते हैं। इसके अलावा चाहें बेक करके बनाई जाने वाली चीजों में इसे यूज कर सकते हैं जैसे मफिन्स, ब्राउनीस, कुकीज वगैरा।

ये भी पढ़े

रॉ व्हे प्रोटीन क्या है, फायदे और उपयोग

प्रोटीन क्या है

व्हेय प्रोटीन कब लेना चाहिए

क्या महिलाओ को व्हेय प्रोटीन लेना चाहिए?

व्हेय प्रोटीन कैसे बनता है ?

Share

Be the first to comment on "Whey Protein Isolate Kya Hai : Fayde, Nuksan Aur Upyog"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*