Vitamin C ke Fayde |विटामिन सी क्यू ज़रूरी है

Vitamin v benefits
Vitamin c benefits in hindi

विटामिन सी (Vitamin C)

विटामिन्स और मिनरल्स हमारी बॉडी के लिए बहुत ज़रूरी है . ये हमारी बॉडी में उस पिलर का काम करते है जैसे के किसी बिल्डिंग में. आज हम उन्ही पिलर्स में से 1 की बात केरेंगे , यानि के विटामिन सी की

विटामिन C (Vitamin C) से जुड़े आहार बहुत आसानी से बाजार में मिल जाते हैं और सस्ते भी होते हैं। चूंकि विटामिन सी पानी में घुलनशील विटामिन है इसलिए आपको रोज इसकी जरूरत पड़ती है। शरीर को रोज इसकी पूर्ति होती रहे यह बहुत जरूरी है क्योंकि इसकी कमी से कई प्रकार की बीमारियों हो सकती हैं। क्या आपको यह जानकारी है कि जब शरीर में विटामिन सी की कमी हो जाती है तो इससे किस तरह की परेशानियां शुरू होने लगती हैं और कौन-कौन से लक्षण महसूस होने लगते हैं? अगर नहीं तो आइए जानते हैं कि इन लक्षणों की पहचान कैसे की जा सकती है।

विटामिन सी की कमी के लक्षण

शरीर में विटामिन C की अधिक कमी होने पर इससे संबंधित लक्षण एक महीने के अंदर दिखाई देने लगते हैं, जो निम्न हो सकते हैं-

मसूड़ों में सूजन और खून आना

मसूड़ों में सूजन और खून आने लगे तो यह विटामिन सी की कमी के लक्षण हो सकते हैं।

त्वचा पर लाल चकत्ता (रैशेज) होना

यह विटामिन सी की कमी के प्रमुख लक्षणों में से एक है। अगर शरीर पर लाल चकत्ता होने लगे तो समझ जाना चाहिए कि विटामिन सी कमी हो रही है।

दांत कमजोर होने लगता है

आपके दांत बिना किसी कारण से कमजोर होने लगे तो समझ जाएं कि विटामिन सी की कमी के कारण भी ऐसा हो सकता है।

कोलेजन संश्लेषण खराब हो सकता है

जब शरीर की कोलेजन संशलेषण प्रक्रिया में खराबी आ जाए तो यह विटामिन सी की कमी का लक्षण हो सकता है।

शारीरिक ताकत में कमी आना

विटामिन सी ( Vitamin C) की कमी के कारण शारीरिक शक्ति में कमी आ सकती है। ऐसा होना पर आपको डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए।

इसी तरह पेरिफोलिकुलर हेमरेज और शरीर की टिशू का कमजोर होना भी विटामिन सी की कमी के लक्षणों में आता हैं।

विटामिन सी ( Vitamin C) की कमी के लक्षणों को शुरुआती अवस्था में पहचान लिया जाए तो उसकी रोकथाम कर शरीर को स्वस्थ बनाया जा सकता है।

विटामिन सी ( Vitamin C) की कमी के कारण

विटामिन सी की कमी कई कारणों से होती है जिनमें स्वस्थ आहार का कम सेवन करना, आनुवांशिक विकार, अधिक व्यायाम करना, और मेटाबोलिक सिंड्रोम आदि हैं। इसके साथ ही उच्च रक्तचाप, डायबिटीज और मोटापा के कारण भी विटामिन सी की कमी हो सकती है।

शिशु एवं वृद्ध लोगों को हो सकती है विटामिन सी की कमी

शिशु काल एवं वृद्धावस्था में भी विटामिन सी कमी पाई जाती है। आर्थिक रूप से कमजोर परिवार पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी ( Vitamin C) का सेवन नहीं कर पाते हैं। इस कारण उनको विटामिन सी की कमी होने की संभावना रहती है और यह कई बीमारियों का कारण भी बन सकता है।

बाजार के दूध से शिशु को हो सकती है विटामिन सी की कमी

शोध में यह बात भी सामने आई है कि मां के दूध में पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी होता है, जबकि बाजार में मिलने वाले दूध को गर्म करने के कारण विटामिन सी की मात्रा में कमी आ जाती है। इसलिए जिन शिशुओं को मां का दूध पिलाया जाता है उनको अन्य शिशुओं की अपेक्षा अधिक विटामिन सी मिलता है जिससे वे अधिक स्वस्थ रहते हैं।

पौष्टिकआहार की कमी से कम हो सकता है विटामिन सी

भारत में ऐसे हजारों लोग हैं, जो परिवार से दूर रहकर अपना जीवन यापन करते हैं। अकेलेपन और भागदौड़ वाली जिंदगी के कारण वे अपने खान-पान पर अधिक ध्यान नहीं दे पाते हैं। पौष्टिक भोजन न करने के कारण इन्हें विटामिन सी कमी हो सकती है। ऐसे लोग प्रायः कम समय में जल्दी बन जाने वाला भोजन पकाया करते हैं। इस भोजन में विटामिन सी की कमी हो सकती है।

धूम्रपान करने वालों को हो सकती है विटामिन सी की कमी

राष्ट्रीय पोषण संस्थान के अनुसार, जो  व्यक्ति धूम्रपान नहीं करते हैं, उनकी अपेक्षा धूम्रपान करने वाले लोगों के शरीर में विटामिन सी की अधिक कमी पाई जाती है। इसका मुख्य कारण धूम्रपान करने वाले लोगों द्वारा लिया जाने वाला असंतुलित आहार होता है। इसी तरह डिब्बाबंद या प्रोसेस्ड खाना खाने वाले लोगों को भी विटामिन सी की कमी होने की संभावना रहती है।

इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिसिन के अनुसार, जो लोग धूम्रपान करते हैं उन्हें अपने शरीर में विटामिन सी की पर्याप्त मात्रा को बनाए रखे के लिए सामान्य लोगों की अपेक्षा 35 mg अधिक विटामिन सी का सेवन करना चाहिए। इस अतिरिक्त खुराक द्वारा धूम्रपान करने वाले लोगों के शरीर में निर्धारित मात्रा में विटामिन सी की पूर्ति हो सकती है।

गंभीर बीमारी की स्थिति में कम हो सकता है विटामिन सी

किसी गंभीर बीमारी होने के कारण भी शरीर में विटामिन सी की कमी हो सकती है। आंतों से जुड़ी गंभीर बीमारियां जैसे- मैलाबॉस्पशन, कैशेक्सिया या कैंसर के कारण भी शरीर में विटामिन सी कमी हो सकती है। इसी तरह किडनी की गंभीर बीमारी भी विटामिन सी की कमी का कारण बन सकता है।

विटामिन सी की ( Vitamin C) कमी से होने वाली बीमारियां

अगर शरीर में लंबे समय तक विटामिन सी की कमी रही तो इससे स्कर्वी रोग हो सकता है, और समय पर इलाज नहीं कराने पर यह घातक भी सिद्ध हो सकता है। ऐसा भी माना जाता है कि अगर विटामिन सी का अधिक सेवन किया गया तो इससे किडनी से संबंधित बीमारी हो सकती है, लेकिन अभी तक इससे जुड़े किसी प्रमाणिक तथ्य का पता नहीं चला है। विटामिन सी की कमी से निम्न बीमारियां हो सकती हैंः-

त्वचा का रूखा होना और चेहरे पर झुर्रियां आना

विटामिन सी ( Vitamin C) की कमी से शरीर के अंगों में रूखा-पन आ जाता है। त्वचा रूखी हो जाती है, और चेहरे तथा आंखों के आस-पास झुर्रियां होने लगती हैं। अगर आपके शरीर में घाव है या कहीं चोट लगी है तो विटामिन सी कमी के कारण बीमारी को ठीक होने में देरी होती है

वायरल संक्रमण, मतली और बुखार आना

विटामिन सी की कमी होने से सर्दी-जुकाम, वायरल संक्रमण, भोजन का स्वाद न लगना, मतली आने जैसी परेशानियां हो सकती हैं। इसके साथ ही बुखार भी आ सकता है।

आंखों की रोशनी कम होना

विटामिन सी ( Vitamin C) का मुख्य काम आंखों की कोशिकाओं को स्वस्थ रखना है। एक शोध में यह पाया गया है कि आंखों से संबंधित परेशानियां जैसे- कम दिखाई देना या मोतियाबिंद के लक्षण महसूस होने लगे तो ये विटामिन सी की कमी के कारण हो सकते हैं। हालांकि इससे संबंधित किसी प्रमाणिक तथ्य की जानकारी नहीं है। इसलिए जब कभी ये परेशानियां हो तो चिकित्सक से परामर्श लेने के बाद ही विटामिन सी का सेवन करना चाहिए[4]।

मुंह से दुर्गंध आना और दांतों का कमजोर होना

जब शरीर में विटामिन सी की कमी हो जाती है तो इसके परिणाम के रूप में मुंह से दुर्गंध आने लगती है। दांत कमजोर होने लगते हैं। इन लक्षणों के सामने आने पर आपको डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए।

वायरल संक्रमण, मतली और बुखार आना

विटामिन सी की कमी होने से सर्दी-जुकाम, वायरल संक्रमण, भोजन का स्वाद न लगना, मतली आने जैसी परेशानियां हो सकती हैं। इसके साथ ही बुखार भी आ सकता है।

अब आपको विटामिन सी की कमी के कारण, उसके लक्षण और होने वाली बीमारी के बारे में पूरी जानकारी मिल चुकी है। इसलिए नियमित तौर पर फलों और सेवन करें ताकि विटामिन सी आपके शरीर में पर्याप्त मात्रा में मौजूद रहे। यह ध्यान रखें कि अगर आप विटामिन सी के सप्लीमेंट्स का सेवन करना चाहते हैं तो सेवन से पहले चिकित्सक से परामर्श जरूर लें।

यह भी पढ़े
Becosules Capsules Review in Hindi: फायदे और नुक्सान
LIMCEE टेबलेट के फायदे और नुकसान
EVION 400 Capsule के फायदे और नुकसान
PATANJALI ASHWSHILA Capsule के फायदे और नुकसान
Revital Ke Fayde aur Nuksan

Share

Be the first to comment on "Vitamin C ke Fayde |विटामिन सी क्यू ज़रूरी है"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*