MASS GAINER या WHEY PROTEIN | क्या है सही

whey vs mass gainer

MASS GAINER vs WHEY PROTEIN

आज कल सभी GYM तो जाते है और अपनी तरफ से बहुत अच्छा वर्क आउट schedule भी बना लेते है. लेकिन कुछ लोगो की बॉडी बनती नही, वही की वही रहती है. उसका एक ही कारण है “डाइट ( DIET)”. जब हम अछी डाइट लेते है तभी गैनिंग होती है और उस डाइट में सप्लीमेंट भी जरूरी रहते है, जैसे के प्रोटीन या मास गेनर इत्यादि. लेकिन कुछ लोग इसी कश्मकश में रहते है के उनके लिए क्या सही है. वेह प्रोटीन (Whey Protein) , या मास गेनर (Mass Gainer).आज आपको इन दोनों का फर्क बताते है.


वेह प्रोटीन (Whey Protein)

बेहतर स्वास्थ्य के लिए प्रोटीन बहुत जरूरी है। Whey प्रोटीन दूध का हे बाई प्रोडक्ट है जो के प्रोटीन का सबसे शुद्ध रूप माना जाता है. इसे पनीर या चीसे बनाते वक्त हे प्रोसेस किया जाता है . और यह बहुत जल्दी पचता भी है.

इसे आगे 3 भागो में बांटा गया है, whey प्रोटीन कंसन्ट्रेट (WPC) , whey प्रोटीन आइसोलेट (WPI), और Whey प्रोटीन हिड्रोलाईसेट( WPH)

मास गेनर (MASS GAINER)

मास गेनर (MASS GAINER) और वेट गेनर सप्लीमेंट प्रोटीन के साथ में उच्च मात्रा वाले कार्ब्स और फैट के साथ उपयोगकर्ता को अधिक कैलोरी प्रदान करता है। यह आम तौर पर 2: 1 या 3: 1 की ratio में कार्बोस और प्रोटीन होता है, जिसका अर्थ है कि मास गेनर वाले प्रत्येक सर्विंग 60 ग्राम कार्ब्स और 30 ग्राम प्रोटीन प्रदान करता है। बड़े पैमाने पर लाभ से प्राप्त कैलोरी का एक बड़ा हिस्सा कार्ब्स से आता है जो आमतौर पर माल्टोस और ग्लूकोज का मिश्रण होता है।

whey प्रोटीन और मास गेनर (MASS GAINER) में अंतर

वेह प्रोटीन और मॉस गेनर में क्या होता है?

मॉस गेनर में प्रोटीन भी शामिल है |आमतौर पर मास गेनर 22 से 35% प्रोटीन की आपूर्ति करते है जबकि प्रोटीन पाउडर 60% से ज्यादा की आपूर्ति करते है |मास गेनर में वे प्रोटीन की तुलना में ज्यादा कैलोरी होती है |इनमे बड़ी मात्रा में कार्बोहायड्रेट और वसा होते है जो की आपकी कैलोरी की खपत को बढ़ावा देते है |दोनों का मांसपेशियों को बनाने और वृदि के लिए प्रयोग किया जाता है |अच्छे मॉस गेनर में लम्बे समय तक ऊर्जा आपूर्ति के लिए नॉन –शुगर कार्बोज शामिल होते है |

मांसपेशियों के निर्माण के लिए क्या है लाभदायी ?

अगर किसी का आसानी से भार नही बढ़ता और वह अधिक मांसपेशियों का निर्माण करना चाहता है तो मास गेनर उसके लिए उपयुक्त होगा | दूसरी और अगर कोई व्यक्ति धीमी गति से लाभ चाहता है वो भी शरीर में नियंत्रित वसा प्रतिशत के साथ तो, वे प्रोटीन पर्याप्त होगा | वैकल्पिक रूप से आप दोनों मॉस गेनर तथा वे प्रोटीन का अधिक वसा को नियंत्रित करने के लिए इस्तेमाल कर सकते है |

फैट घटाने के इच्छुक को भी क्या प्रोटीन की जरूरत है ?

अगर किसी व्यक्ति ने पहले ही उचित मांसपेशियों का निर्माण कर लिया है और वसा को कम करने को तैयार है, तो वे प्रोटीन उपयुक्त होगा | यह वसा को कम करने के लिए मसल कैटाबोलिज़्म को सभी प्रकार के कार्डियो से बचाता है

whey for fat loss

क्या वे प्रोटीन केवल कटिंग यानी मॉस कम करने के लिए ही उपयुक्त है?

वे प्रोटीन कटिंग और बल्किंग दोनों ही पहलुओं से उचित है | ऐसा इसलिए क्योंकि कुछ लोग बल्किंग के उदेश्य से मॉस गेनर का प्रयोग करते है और कुछ लोग केवल अनचाहे कैलोरीज के भय से मांसपेशियों का निर्माण करने के लिए वे प्रोटीन का इस्तेमाल करते है |

बिना वर्कआउट के प्रोटीन /मॉस गेनर लेना क्या लाभदायी है?

प्रोटीन का उद्देश्य मसल रिकवरी और मसल टिशूज की रिपेयर करना होता है ताकि मसल बड़े और मजबूत हो सके | अगर कोई व्यक्ति वर्कआउट नही करता तो उसे रिकवरी की कोई जरूरत नही है क्योंकि अगर उसका शरीर प्रोटीन स्टोर नही करता तो यह सिर्फ पैसे की बर्बादी होगी |अगर वह बिना व्यायाम के मॉस गेनर लेता है तो उसके शरीर में मसल के बजाए वसा बढ़ जाएगी और वह सप्लीमेंट खरीदने पर एक तरह से पैसे व्यर्थ कर रहा है |

क्या बहुत अधिक प्रोटीन लिया जा सकता है?

अगर किसी को लिवर या किडनी की समस्याएं है या पारिवारिक इतिहास हो , तो पहले किसी डॉक्टर को अवशय चैक करवाए |आमतौर पर शरीर को जितने प्रोटीन की जरूरत होती है यह उतना खपत कर लेता है और शेष नाइट्रोजन यूरिन द्वारा बाहर निकाल देता है |इसलिए यह आवश्यक है की शरीर के लिवर और किडनी कार्य प्रणाली ठीक काम करते हो |अगर कोई सप्लीमेंट्स से हाई प्रोटीन डाइट ले रहा है तो यह अत्यंत जरूरी है की वह पानी भी ज्यादा मात्रा में ले रहा हो |

यह भी पढ़े :
वजन बढ़ाने का डाइट प्लान

हिप्स की चर्बी कैसे काम करे

 Raw Whey Protein क्या है, फायदे और उपयोग

शरीर में पानी की कमी कैसे पूरी करे

स्टैमिना कैसे बढ़ाये

Share

Be the first to comment on "MASS GAINER या WHEY PROTEIN | क्या है सही"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*